होम बायर्स को ब्याज नहीं दिया तो कुर्क होगी यूनिटेक की प्रॉपर्टी: SC

होम बायर्स को ब्याज नहीं दिया तो कुर्क होगी यूनिटेक की प्रॉपर्टी: SC

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा कि अगर रियल एस्टेट कंपनी यूनिटेक गुड़गांव के एक प्रोजेक्ट के 39 होम बायर्स को ब्याज का भुगतान नहीं करती है, तो वह कंपनी की प्रॉपर्टी को कुर्क करने का आदेश देगा। अदालत ने 20 फरवरी को यूनिटेक को इन होम बायर्स को 14 पर्सेंट सालाना का ब्याज चुकाने को कहा था। गुड़गांव के सेक्टर 70 के विस्टाज प्रोजेक्ट में देरी के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश दिया था।

इस बारे में बायर्स के वकील पवनश्री ने कहा, ‘कंपनी ने ब्याज की रकम जमा नहीं कराई है, जो करीब 15.5 करोड़ रुपये बनती है। इस वजह से अदालत कंपनी से काफी नाराज है।’ उन्होंने बताया, ‘सुप्रीम कोर्ट ने यूनिटेक को चेतावनी दी है कि अगर वह यह पैसा जमा नहीं कराती तो कंपनी की प्रॉपर्टी को कुर्क करने का आदेश दिया जाएगा।’ इस मामले में अगली सुनवाई 9 मई को होगी।

कोर्ट ने पिछले साल अक्टूबर में यूनिटेक को इन होम बायर्स की 16.55 करोड़ रुपये की मूल रकम लौटाने का आदेश यूनिटेक को दिया था। अदालत ने कहा है कि कंपनी को 1 जनवरी 2010 के बाद से ब्याज का भुगतान करना होगा। यह मूल रकम के अलावा है। कंपनी मूल रकम होम बायर्स को लौटा चुकी है। अग्रवाल ने बताया, ‘9 मई की सुनवाई में ब्याज और मुआवजे पर दलील सुनी जाएगी।’

यूनिटेक ने कहा है, ‘कुछ कस्टमर्स ने 2014-15 के अंत में कुछ रकम का भुगतान हमें किया था। कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट से पूछा है कि उसे 1 जनवरी 2010 से होम बायर्स को ब्याज का भुगतान करना है या उनकी तरफ से जमा कराई गई पूरी रकम के बाद की तारीख से?’

जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस ए एम खानविलकर और जस्टिस मोहन एम की बेंच ने फरवरी में यूनिटेक को 90 पर्सेंट ब्याज की रकम जमा कराने के लिए 8 हफ्ते का वक्त दिया था। कंपनी से यह पैसा कोर्ट की रजिस्ट्री के पास जमा कराने को कहा गया था। हालांकि, कंपनी ने इस फैसला का पालन नहीं किया। जून 2015 में नेशनल कंज्यूमर डिस्प्यूट्स रिड्रेसल कमीशन ने यूनिटेक पर 12 पर्सेंट की पेनाल्टी इस प्रोजेक्ट में देरी को लेकर लगाई थी। यह प्रोजेक्ट 2009 के मध्य में लॉन्च हुआ था और इसकी डिलीवरी दिसंबर 2012 में की जानी थी। एक अन्य मामले में सुप्रीम कोर्ट ने यूनिटेक के चेयरमैन रमेश चंद्रा, मैनेजिंग डायरेक्टर्स अजय चंद्रा और संजय चंद्रा और कंपनी के सभी डायरेक्टर्स को 5 मई को अदालत में पेश होने का आदेश दिया था। उसने बिल्डर से प्रोजेक्ट्स पूरा करने का फाइनल प्रपोजल भी मांगा था।

Source : http://navbharattimes.indiatimes.com/business/property/property-news/unitechs-property-will-be-occupied-if-the-home-buyers-are-not-paid-interest-said-sc/articleshow/58355208.cms

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *